July 24, 2021

My UP News

My UP NEWS

पत्रकार सुलभ श्रीवास्तव की संदिग्ध मृत्यु की सीबीआई जांच कराने की मांग

प्रयागराज-डीवीएनए। प्रिंट एवं इलेक्ट्रानिक जर्नलिस्ट्स एसोसिएशन के राष्ट्रीय सचिव एवं सह प्रभारी प्रयागराज भोलानाथ कुशवाहा एवं भोला अवस्थी प्रदेश महासचिव एवं संयोजक प्रयागराज मंडल ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री से मांग की है प्रतापगढ़ के वरिष्ठ पत्रकार सुलभ श्रीवास्तव की संदिग्ध स्थिति में मृत्यु की सीबीआई जांच कराने की मांग की है।
उल्लेखनीय है कि सुलभ श्रीवास्तव ने गत 12 जून को अपर पुलिस महानिदेशक प्रयागराज एवं पुलिस अधीक्षक प्रतापगढ़ को एक पत्र देकर अपनी हत्या की आशंका जताते हुए सुरक्षा की मांग की थी। उपरोक्त पत्रकार ने अपराधियों द्वारा अवैध शराब एवं अवैध असलहा बनाने का समाचार प्रकाशित किया था जिससे उनके ऊपर किसी भी समय प्राणघातक हमला को लेकर उपरोक्त पत्रकार भयभीत था। एसोसिएशन के अधिकारियों ने प्रदेश के मुख्यमंत्री एवं उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव तथा अपर मुख्य सचिव गृह से मांग की है कि उपरोक्त घटना की सीबीआई जांच कराई जाए और इस घटना में जो लापरवाह अफसर हैं उन्हें तत्काल सस्पेंड किया जाए और पत्रकार के परिजनों को 50 लाख रूपये की आर्थिक सहायता दी जाए।
उपरोक्त संबंध में एसोसिएशन के प्रांतीय सदस्य उग्रसेन गुप्ता फतेहपुर, बलराम शुक्ला जिला अध्यक्ष प्रयागराज, श्रवण कुमार श्रीवास्तव जिला अध्यक्ष फतेहपुर, उदय लाल मौर्या जिला अध्यक्ष प्रतापगढ़, सुनील कुमार पांडे जिला अध्यक्ष कौशांबी ने सरकार से मांग की है दिवंगत पत्रकार के हत्याकांड की जांच की जाए। यदि ऐसा नहीं किया गया तो एसोसिएशन प्रयागराज मुख्यालय पर प्रयागराज मंडल के पत्रकारों की उपस्थिति में धरना-प्रदर्शन को मजबूर मजबूर होगा जिसकी सारी जिम्मेदारी शासन व प्रशासन की होगी।
यू.पी.जर्नलिस्ट्स एसोसिएशन (उपजा) के प्रांतीय अध्यक्ष रतन दीक्षित, महामंत्री अशोक अग्निहोत्री, संगठन मंत्री संतोष भगवन तथा प्रतापगढ़ इकाई के अध्यक्ष अखिल नारायण सिंह व महामंत्री डा. अमित पाण्डेय ने पत्रकार सुलभ श्रीवास्तव की संदिग्ध मौत की उच्चस्तरीय जांच कराए जाने व पीडित परिजनों को एक करोड़ रूपया मुआवजा राशि दिलाए जाने की मांग शासन से की है।
बता दें कि सुलभ श्रीवास्तव 13 जून को पुलिस द्वारा लालगंज क्षेत्र में बरामद हुई अवैध असलहा फैक्ट्री का पुलिस द्वारा खुलासा किए जाने की घटना, की कवरेज करने गए थे। वापस लौटते समय सुखपाल नगर से कटरा मेदनीगंज चैराहे के बीच महकनी गांव के सामने स्थित ईट भट्टे के पास रात करीब साढ़े 10 बजे घायल अवस्था में मिले। उपचार के लिए उन्हें जिला अस्पताल पहुँचाया गया जहाँ डाक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। सुलभ श्रीवास्तव ने 2 दिन पहले शराब माफियाओं से संबंधित खबर चलाने पर अपने जान माल के खतरे की संभावना को जताते हुए प्रयागराज व पुलिस अधीक्षक प्रतापगढ़ को प्रार्थना पत्र देकर सुरक्षा की गुहार लगाई थी लेकिन पुलिस ने इस पर कोई ध्यान नहीं दिया। उपजा शोक व्यक्त करते हुए इस घटना की उच्चस्तरीय जाँच की मांग करती है। उपजा की सभी जिला इकाइयों के द्वारा मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजा जा रहा है। एनयूजेआई के अध्यक्ष रास बिहारी ने भी इस घटना पर रोष व्यक्त करते हुए पूरी घटना की उच्च स्तरीय जांच की मांग की है।
समाजवादी पार्टी महानगर अध्यक्ष सै.इफ्तेखार हुसैन, वरिष्ठ सपा नेता व पूर्व प्रदेश सचिव नरेन्द्र सिंह ने प्रतापगढ़ के न्यूज रिपोर्टर सुलभ श्रीवास्तव की संदिग्ध मौत की खबर को पत्रकार जगत सहित तमाम सभ्य समाज के लिए मर्माहत करने वाली घटना बताते हुए कहा की यह खेद जनक है कि सत्ता संरक्षण में चल रहे शराब के अवैध धन्धे पर बोलने वाले पत्रकार को सरेआम ठोक दिया गया। सपा महानगर प्रवक्ता सै.मो.अस्करी ने पत्रकारिता जगत में इस प्रकार की घटना की पुनरावृत्ति न हो इसके लिए पत्रकार बन्धुओं को सरकार पर दबाव बना कर आत्म सुरक्षा को सरकारी असलहे के लाईसेन्स आवंटित करने की मांग करनी चाहिये। सपा नेताओं ने उत्तर प्रदेश सरकार से मांग की कि पत्रकार के साथ घटित ठोको नीति वाली घटना की न्यायिक जांच हो और निष्पक्ष पत्रकारों के जान व माल की सुरक्षा होनी चाहिये। इफ्तेखार हुसैन व नरेन्द्र सिंह ने देश के प्रमुख स्तम्भों में से एक पत्रकार जगत के साथ घटित घटना को शर्मनाक बताया।
अखिल भारतीय उद्योग व्यापार मंडल उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार मंडल के हुई वर्चुअल बैठक में बोलते हुए मंडल प्रभारी सुशांत केसरवानी ने कहा कि प्रतापगढ़ में पत्रकार शलभ श्रीवास्तव की दुर्दांत हत्या होना लोकतंत्र के मुंह पर तमाचा है। लोकतंत्र के महत्वपूर्ण स्तंभ कलम के सिपाही पत्रकार साथियों के साथ अगर इस तरह की दुर्घटनाएं होंगी तो सच्चाई उजागर करने के लिए कौन आगे आएगा। महानगर अध्यक्ष कुलदीप सिंह ने कहा कि इस हत्या से प्रतापगढ़ के व्यापारियों में आक्रोश है और व्यापारी समाज पत्रकार बंधुओं के साथ कंधे से कंधा मिला कर खड़ा हुआ है। प्रदेश मंत्री अनुराग खंडेलवाल और जिला अध्यक्ष उमा प्रसाद अग्रहरी ने घटना का जल्द खुलासा किए जाने की मांग की और हर तरह के आंदोलन और संघर्ष में पत्रकार साथियों के साथ देने का प्रतिबद्धता दोहराई। मीटिंग का संचालन नगर प्रभारी अर्पित खंडेलवाल ने किया। मीटिंग में मुख्य रूप से महामंत्री आतिफ अंसारी, उपाध्यक्ष नरेंद्र सिंह, मंत्री सलमान अहमद, रमनदीप सिंह, श्रवण कुमार मकीजा आदि व्यापारी मौजूद रहे।

Auto Fatched From DVNA