September 27, 2021

My UP News

My UP NEWS

जानिए किस राशि वालों को क्या फल देगा आज का सूर्य ग्रहण?

इस बार सूर्य ग्रहण ज्येष्ठ मास की कृष्ण पक्ष की अमावस्या तिथि को लगेगा. सूर्य ग्रहण दोपहर 1 बजकर 42 मिनट से शुरू होकर शाम के 6 बजकर 41 मिनट पर समाप्त होगा। ये सूर्य ग्रहण उत्तरी अमेरिका, यूरोप, एशिया में आंशिक रूप में दिखाई देगा. जबकि ग्रीनलैंड, उत्तरी कनाडा और रूस में पूर्ण सूर्य ग्रहण देखने को मिलेगा। इस साल का सूर्य ग्रहण भारत में केवल अरुणाचल प्रदेश में दिखाई देगा। ज्योतिष के अनुसार, इस बार का सूर्य ग्रहण वृष राशि में लगेगा। इसलिए इन राशि वालों को सतर्क रहने की आवश्यकता है। इसके साथ ही सूर्य ग्रहण का प्रभाव सभी राशियों पर भी पड़ेगा.

मेष राशि:- मेष राशि का स्वामी मंगल है। इस राशि के जातक अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखें। खान-पान अच्छा रखें, तनाव लेने से बचें, धैर्य के साथ काम करें। कुछ समय के लिए कोई भी बड़ा निर्णय न लें। इस ग्रहण का प्रभाव आपको शुभ फल दे सकता है। विदेश से लाभ के योग हैं। सफलता के नए अवसर प्राप्त होंगे। साइंटिस्ट कोई नई खोज कर सकते हैं। नई टेक्नोलॉजी का प्रयोग करने से तरक्की के नए मार्ग प्रश्स्त होंगे।

वृष राशि:- इस राशि में सूर्य ग्रहण लगने के कारण वृष राशि के जातकों को स्वास्थ्य का बेहद ख्याल रखने की जरूरत है। नेगेटिविटी से बचें अपनी लाइफ में पॉजिटिविटी को बढ़ाएं. आने वाले एक महीने तक कोई भी बड़ा फैसला लेने से बचें। व्यवसाय से जुड़े किसी भी काम को कुछ समय के लिए टाल दें। लंबी यात्रा करने से बचें
इस राशि के जातकों को किस्मत का साथ मिलेगा। इसलिए परेशान होने की जरूरत नहीं है।

मिथुन राशि:- इस राशि के जातकों के लिए ये सूर्य ग्रहण अच्छे परिणाम लेकर आएगा। खासतौर पर कला, मीडिया आदि क्षेत्रों से जुड़े लोगों के लिए ये फलदायी होगा। जो लोग चार्टर्ड अकाउंटेंट हैं, उनके लिए ये अच्छा समय है। वाणी पर नियंत्रण रखें, वाद-विवाद से बचें,

कर्क राशि:- इस राशि के जातकों पर सूर्य ग्रहण का कोई नेगेटिव प्रभाव नहीं होगा। तनाव से बचें। अपने काम पर फोकस बनाए रखें,

सिंह राशि:- इस राशि के जातकों को अपनी प्लानिंग धरातल पर और मजबूती से करनी हेगी। किसी भी काम के बारे में रिसर्च करने के बाद ही निर्णय लें। सूर्य ग्रहण के बाद अपनी योजनाओं पर काम करें. इससे आपको सफलता की प्राप्ति होगी, घर-परिवार का सहयोग मिलेगा।

कन्या राशि:- इस राशि के जातक स्वास्थ्य का बेहद ख्याल रखें। स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचाने वाली चीजों का सेवन करने से बचें। बाहर की चीजें खाने से परहेज करें। मित्रों का सहयोग मिलेगा।

तुला राशि:- इस राशि के जातकों को सूर्य ग्रहण से कोई नेगेटिव रिजल्ट नहीं मिलेगा। अपने प्रोफेशन से जुड़े मामलों में मित्रों या परिवार वालों की सलाह जरूर लें, सोच-समझकर किसी कार्य को करें। काम बनेंगे, सफलता की प्राप्ति होगी।

वृश्चिक राशि:- इस राशि के जातक व्यर्थ खर्च करने से बचें। खर्चे पर नियंत्रण रखें. क्रोध से बचें। चिड़चिड़ापन अपने ऊपर हावी न होने दें।

धनु राशि:- इस राशि वालों के लिए ये सूर्य ग्रहण शुभ फल लेकर आएगा। कार्यों में सफलता मिलेगी। समय आपके लिए अनुकूल है। आलस्य छोड़कर काम पर फोकस करें।

मकर राशि:- इस राशि के जातक अपने काम की गति को और बढ़ाएं. अपने ईगो की वजह से किसी भी कार्य को न टालें, मेहनत पर ध्यान दें। अच्छे रिजल्ट की प्राप्ति होगी, घर-परिवार की मदद से आपके काम बनेंगे।

कुम्भ- इस राशि के जातक अपनी भावनाओं को नियंत्रण में रखें। अगर किसी से कुछ कहना चाहते हैं तो थोड़े समय के लिए रुक जाएं. प्रोफेशन से जुड़े मामलों में सावधान रहें। अगर जॉब बदलने की सोच रहे हैं तो कुछ समय के लिए टाल दें। नई स्किल्स सीखें. इस सूर्य ग्रहण का आपके ऊपर कोई नेगेटिव प्रभाव नहीं होगा,

मीन राशि:- इस राशि के जातकों के लिए ये सूर्य ग्रहण अनुकूल रिजल्ट लेकर आएगा। वाणी पर नियंत्रण रखें, आलस्य छोड़कर अपने कार्यों को तेजी से करें।

ग्रहण के समय पालनीय कुछ बाते:।

(1) ग्रहण-वेध के पहले जिन पदार्थों में कुश या तुलसी की पत्तियाँ डाल दी जाती हैं, वे पदार्थ दूषित नहीं होते । जबकि पके हुए अन्न का त्याग करके उसे गाय, कुत्ते को डालकर नया भोजन बनाना चाहिए।

(2) सामान्य दिन से सूर्यग्रहण में किया गया पुण्यकर्म (जप, ध्यान, दान आदि) एक लाख गुना । यदि गंगा-जल पास में हो तो सूर्यग्रहण में एक करोड़ गुना फलदायी होता है ।

(3) ग्रहण-काल जप, दीक्षा, मंत्र-साधना (विभिन्न देवों के निमित्त) के लिए उत्तम काल है ।

(4) ग्रहण के समय गुरुमंत्र, इष्टमंत्र अथवा भगवन्नाम जप अवश्य करें, न करने से मंत्र को मलिनता प्राप्त होती है।

(5) सूर्यग्रहण वाले दिन ध्यान रखना चाहिए ये बातें :

सूतक के समय और ग्रहण के समय भगवान की मूर्ति का स्पर्श नहीं करना चाहिए। इस दिन भगवान के नाम का जाप करते हुए दान करना चाहिए। पवित्र नदी में स्नान, हवन आदि कर्म करने से पुराने पाप नष्ट होते हैं और किस्मत का साथ मिल सकता है।

यह जानकारी मैंने शास्त्रोक्त दी है जिसकी पालना कर के आप ग्रहण के दुष प्रभाव से बच सकते है । व यह कार्य कर के इस ग्रहण का लाभ उठा सकते है ।

ज्योतिष के अनुसार ग्रहण वाले दिन कुछ खास उपाय किए जाए तो कुंडली के दोषों को दूर किया जा सकता है। ध्यान रखें सूतक काल में पूजा-पाठ नहीं करना चाहिए, इसीलिए पूजा-पाठ से संबंधित उपाय सूतक से पहले करना चाहिए। जिस जिस जातक या जातिका की कुण्डली में सूर्यग्रहण दोष है। वो भी कुछ उपाय करने से दोष खत्म कर सकते है। ग्रहण के दिन।

बताया कि ग्रहण के दुष्प्रभावों से बचने के लिए सर्वोत्तम उपाय ग्रहण काल में भगवन्नाम जप स्मरण व दान है।

सूर्य ग्रहण के दौरान सावधानियां

-गर्भवती महिलाओं को ग्रहण के दौरान घर से बाहर नहीं निकलना चाहिए।
-सूर्य ग्रहण को आंखों पर बिना किसी सुरक्षा के नहीं देखना चाहिए।
-इस अवधि में चाकू, छुरी या तेज धार वाली वस्तुओं का प्रयोग न करें।
-ग्रहण के दौरान भोजन और पानी का सेवन न करें।
-इस समय पूजा करना और स्नान करना भी शुभ नहीं माना जाता।
-ग्रहण के दौरान आदित्य हृदय स्तोत्र का पाठ कर सकते हैं।
-ग्रहण के बुरे प्रभावों से बचने के लिये महा मृत्युंजय मंत्र का जाप करें।

क्यो पङता है, सूर्यग्रहण विशेष जानकारी:

मान्यता :पौराणिक कथानुसार समुद्र मंथन के दौरान जब देवों और दानवों के साथ अमृत पान के लिए विवाद हुआ तो इसको सुलझाने के लिए मोहनी एकादशी के दिन भगवान विष्णु ने मोहिनी रूप धारण किया। जब भगवान विष्णु ने देवताओं और असुरों को अलग-अलग बिठा दिया। लेकिन असुर छल से देवताओं की लाइन में आकर बैठ गए और अमृत पान कर लिया। देवों की लाइन में बैठे चंद्रमा और सूर्य ने राहू को ऐसा करते हुए देख लिया। इस बात की जानकारी उन्होंने भगवान विष्णु को दी, जिसके बाद भगवान विष्णु ने अपने सुदर्शन चक्र से राहू का सर धड़ से अलग कर दिया। लेकिन राहू ने अमृत पान किया हुआ था, जिसके कारण उसकी मृत्यु नहीं हुई और उसके सर वाला भाग राहू और धड़।ब वाला भाग केतू के नाम से जाना गया। इसी कारण राहू और केतु सूर्य और चंद्रमा को अपना शत्रु मानते हैं। और अमावश्या के दिन सूर्य को ग्रस लेते हैं। इसलिए सूर्य ग्रहण होता है।

किसी भी प्रकार की समस्या समाधान के लिए आचार्य पं. श्रीकान्त पटैरिया (ज्योतिष विशेषज्ञ) जी से सीधे संपर्क करें = 9131366453

Auto Fatched From DVNA