September 27, 2021

My UP News

My UP NEWS

फिंगर प्रिंट क्लोन बनाकर बैंक खाते से रूपया निकालने वाले 11 अन्तर्राज्यीय गैंग के ठगों को स्वाट और साइबर सेल टीम ने किया गिरफ्तार

गोरखपुर (DVNA)। अपराधी कितना भी शातिर और चालक क्यो न हो एक न एक दिन वो पुलिस की गिरफ्त में आ ही जाता है जैसे जैसे टेक्नोलॉजी बढ़ रही है वैसे वैसे अपराध करने के तरीके भी बढ़ते जा रहे है लेकिन पुलिस भी उसी रफ्तार में अपराधियों को पकड़ रही है और उनको सलाखों के पीछे भेज रही है जनपद में साइबर ठगी की दर्जनों शिकायतें मिल रही थी इन शिकायतों को गंभीरता से लेते हुए एसएसपी दिनेश कुमार पी ने इन ठगों को पकडऩे के लिए निर्देश दिया।
पुलिस अधीक्षक अपराध डॉ महेंद्र पाल सिंह के पर्वेक्षण में क्राइम ब्रान्च, साइबर सेल, स्वाट टीम व एसओजी टीम को सक्रिय किया गया और आखिरकार इन ठगों को पुलिस ने पकडऩे में सफलता हासिल कर लिया
पुलिस लाइन में एसएसपी दिनेश कुमार पी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि स्वाट और साइबर सेल टीम की कड़ी मेहनत से 11 अन्तर्राज्यीय गैंग के ठगों को गिरफ्तार किया गया ये सभी ठग जनता की मेहनत की कमाई को चंद मिनट में उनके खाते से उड़ा देते थे ये सभी अन्तर्राज्यीय गैंग के ठगों जब पुलिस ने कड़ाई से पूछताछ की तो इन्होंने बताया कि ये लोग अंगूठे का क्लोन बनाकर फर्जी सीएसपी से बैंक खातो से पैसे निकालने का काम करते है पूछताछ में बताया कि हम लोग नेपाल व दिल्ली के लोगो के नाम से खाता खुलवाकर उनका बैंक पासबुक, एटीएम कार्ड, नेट बैंकिग का यूजर आईडी पासवर्ड अपने पास रख लेते थे साथ ही उनका वीडियों केवाईसी कराकर सीएसपी बना लेता था । इसके बदले उन व्यक्तियो को पैसे दे देता था। इसके पश्चात विभिन्न माध्यमों से आधार कार्ड नम्बर व अंगूठे का प्रिंट प्राप्त कर अंगूठे का फिंगर प्रिंट क्लोन बनवा लेते थे। इस प्रकार प्राप्त आधार कार्ड नम्बर व फिंगर प्रिंट क्लोन से उपरोक्त सीएसपी(ग्राहक सेवा केन्द्र) से लिंक बैंक खातों में पैसे ट्रान्सफर करके एटीएम से पैसे निकाल लेते थे इस तरह इनके गैंग के द्वारा सैकड़ो लोगो को अपना शिकार बनाया जा चुका है। पकड़े गए ठगों के पास से रू0 910000.00 नगद एक होण्डा सिटी कार, एक पल्सर मोटरसाइकिल, फिंगर प्रिन्ट क्लोन, फिंगर प्रिन्ट स्कैनर, फिंगर प्रिन्ट क्लोन बनाने वाली मशीन मय उपकरण, मोबाइल फोन 53 अदद, मोबाइल सिम, चेक बुक, पास बुक, डोंगल, एटीएम कार्ड, लैपटाप, पैन ड्राइव व रजिस्टर आधार कार्ड डाटा सहित भारी मात्रा में सामग्री बरामद किया गया।
ठगों को गिरफ्तार करने वाली टीमो में इंस्पेक्टर सुशील कुमार शुक्ला,प्रभारी स्वाट इंस्पेक्टर संतोष सिंह यादव, क्राइम ब्रांच,उ0नि0 महेश कुमार चौबे, प्रभारी साइबर सेल,उ0नि0 चन्द्रभान सिंह, प्रभारी एसओजी, उ0नि0 अरूण कुमार सिंह, स्वाट टीम,हे0का0 विपेन्द्र मल्ल, स्वाट टीम,हे0का0 राजमंगल सिंह, स्वाट टीम,हे0का0 शशिकान्त राय, स्वाट टीम,हे0का0 शनातन सिंह ,स्वाट टीम,हे0का0 धर्मेन्द्र नाथ तिवारी,स्वाट टीम,हे0का0 योगेश सिंह,एसओजी टीम,हे0का0 तेजसिंह,एसओजी टीम,हे0का0 राकेश यादव,एसओजी टीम ,हे0का0 जितेन्द्र सिंह,एसओजी टीम,हे0का0 प्रदीप राय,एसओजी टीम,का0 इन्द्रेश वर्मा,एसओजी टीम का0 शशिशंकर राय,साइबर सेल मुख्य रूप से अहम भूमिका निभाई। एसएसपी ने गिरफ्तार करने वाली टीम को 25 हज़ार का इनाम दिया है

Auto Fatched From DVNA