November 28, 2021

My UP News

My UP NEWS

9 वर्षीय बच्चे को तालिबानी सजा, पेड़ में बांध कर हुई पिटाई

महराजगंज-DVNA। नौतनवा थाना क्षेत्र में स्थित मंडी समिति परिसर में रखें गेहूं के भंडार में जमीन पर बिखरे लगभग 5 किलो गेहूं लेकर अपने घर जा रहे लगभग 9 वर्षीय एक गरीब बच्चे को चोरी का आरोप लगाते हुए मंडी समिति के कर्मचारियों और मजदूरों ने उस बच्चे को तालिबानी सजा देते हुए पेड़ से बांधकर जमकर पिटाई की। जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वही वायरल वीडियो का संज्ञान लेते हुए पुलिस खुद मौके पर जांच के लिए पहुंच गई और घटना में शामिल लोगों से पूछताछ कर कई लोगों को हिरासत में लिया है। वहीं राज्य बाल संरक्षण आयोग घटना का संज्ञान लेकर दोषियों पर कड़ी कार्रवाई कराने की बात कह रहा है।
मिली जानकारी के मुताबिक नौतनवा कस्बे में मंडी समिति का एक बड़ा परिसर है। मंडी के समीप एक गांव का 9 वर्षीय बच्चा टिन सेट में बनाए गए गेहूं के गोदाम से जमीन पर गिरे गेहूं को बटोरकर अपने घर ले जा रहा था। तभी मंडी के कर्मचारियों और मजदूरों ने उसे पकड़ लिया और रस्सी के सहारे पेड़ से बांधकर प्रताड़ित करते हुए जमकर पिटाई की। मंडी के अधिकारियों ने कई घंटे के बाद उसके परिजनों को बुलाकर माफीनामा लिखवाया और उसे घर भेज दिया। इसी बीच वहां मौजूद किसी व्यक्ति ने पेड़ से बांधे बच्चे की वीडियो बना ली और उसे सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। वायरल वीडियो में साफ दिख रहा है कि बच्चे को पेड़ से बांधा गया है और उसे प्रताड़ित किया जा रहा है । हालांकि वीडियो में पिटाई करते हुए कोई नजर नहीं आ रहा। वहीं पुलिस ने आज वायरल वीडियो का संज्ञान लेते हुए मंडी समिति पहुंच गई और बच्चे व उसके परिजनों को बुलाकर पूरी घटना की जानकारी ली। जांच के दौरान बच्चे ने अपने साथ मारपीट में शामिल लोगों की पहचान की। जिसके बाद पुलिस मारपीट में शामिल कुछ लोगो को अपने साथ थाने ले गई। जहां उनसे पूछताछ की जा रही है। वही बच्चे की पिटाई से आहत परिजन व स्थानीय लोग इस गंभीर घटना में शामिल दोषियों पर कड़ी कार्रवाई की मांग कर रहे हैं।
मंडी परिसर में एक नाबालिक बच्चे के साथ दर्दनाक तरीके से पेड़ में बांधकर पिटाई के मामले में मंडी के भीतर मौजूद रहने वाले जिम्मेदार अधिकारी को ही नहीं पता कि मंडी परिसर में इस तरह की घटना घटित हुई है। इस गंभीर घटना में शामिल कर्मचारियों के खिलाफ विभागीय कार्रवाई की बजाय पुलिस द्वारा की जा रही जांच का हवाला देकर दोषियों को बचाने का प्रयास किया जा रहा है।
डॉक्टर सुचिता चतुर्वेदी, सदस्य, उत्तर प्रदेश राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग
उत्तर प्रदेश राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने इस गंभीर घटना को संज्ञान लेने और घटना में शामिल दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की बात कह रही है।

Auto Fatched From DVNA