September 16, 2021

My UP News

My UP NEWS

दिल्ली विश्वविद्यालय में 15 जुलाई के बाद शुरू हो सकता है दाखिला

नई दिल्ली (DVNA)। 12वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षा रद्द होने व नतीजो में देरी का असर विश्वविद्यालयों में होने वाले दाखिलो पर भी पड़ रहा है। दिल्ली विश्वविद्यालय में प्रथम वर्ष की दाखिला प्रक्रिया 15 जुलाई से शुरू की जानी थी, लेकिन अब यह प्रक्रिया अगस्त में शुरू की जाएगी। दिल्ली विश्वविद्यालय ने स्पष्ट किया है कि इस वर्ष भी दाखिला प्रक्रिया में देरी हो सकती है। दिल्ली विश्वविद्यालय के कार्यकारी कुलपति पीसी जोशी का कहना है कि सीबीएसई बोर्ड बारहवीं कक्षा के नतीजे घोषित होने के बाद दाखिला प्रक्रिया शुरू होगी। हालांकि कॉलेजों में यह दाखिला प्रक्रिया पिछले वर्ष के मुकाबले देरी से शुरू हो सकती है।
कुलपति ने कहा कि विभिन्न राज्य बोर्ड और सीबीएसई के छात्रों को दिल्ली विश्वविद्यालय के दाखिलों में एक समान महत्व दिया जाएगा।
दिल्ली विश्वविद्याल के मुताबिक शैक्षणिक सत्र 2021-22 के लिए दाखिला अगस्त के पहले सप्ताह में शुरू हो सकता है। दाखिला प्रक्रिया की तैयारी चल रही है। सीबीएसई के रिजल्ट 31 जुलाई तक ही आएंगे और कॉमन एंट्रेस टेस्ट को लेकर शिक्षा मंत्रालय से निर्देश नहीं मिले हैं।
सीबीएसई द्वारा बारहवीं कक्षा के छात्रों का परिणाम 31 जुलाई तक घोषित किया जाएगा।
गौरतलब है कि सीबीएसई 12वीं बोर्ड का रिजल्ट तैयार करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। इसके लिए सीबीएसई के स्कूलों को निर्देश जारी किए गए हैं। छात्रों द्वारा 11वीं कक्षा में अर्जित किए गए अंक स्कूलों को अपलोड करने होंगे। इसके अलावा सीबीएसई ने स्कूलों से प्रैक्टिकल एवं प्रोजेक्ट के अंक अपलोड करने को कहा है।
12वीं बोर्ड का रिजल्ट तैयार करने के लिए सीबीएसई ने सभी हितधारकों से व्यापक परामर्श के बाद यह नीति अपनाई है। इसके तहत अंतिम परिणाम की गणना करते समय, कक्षा 10 के 3 सबसे अच्छे थ्योरी विषयों के अंको का औसत , कक्षा 11 की थ्योरी के 30 फीसदी का वेटेज व कक्षा 12वीं की थ्योरी का 40 फीसदी वेटेज लिया जाएगा। प्रैक्टिकल में दिए गए अंक जैसे हैं, वैसे ही लिए जाएंगे।

Auto Fatched From DVNA