October 25, 2021

My UP News

My UP NEWS

युवती को आत्महत्या के लिए उकसाने पर 6 साल की कैद

रुद्रप्रयाग 09 जुलाई (DVNA)। युवती को आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोप में सत्र न्यायाधीश की अदालत ने एक युवक को दोषी पाते हुए छह वर्ष के कठोर कारागार की सजा सुनाई है। अदालत ने पांच हजार रुपये का अर्थदंड भी लगाया है। न्यायालय के आदेश पर पुलिस ने दोषी को पुरसाड़ी जेल भेज दिया है।

जिला न्यायालय में दोनों पक्षों की पैरवी सुनने के बाद सत्र न्यायाधीश श्रीकांत पांडे ने आरोपी अर्जुन कुमार पुत्र जीशन लाल, निवासी ग्राम केडा मल्ला, चंद्रनगर को भारतीय दंड संहिता की धारा 306 में दोषी पाते हुए छह वर्ष के कारागार की सजा सुनाई। मामले में शासकीय अधिवक्ता सुदर्शन चौधरी ने बताया कि बीते वर्ष 9 मई को अगस्त्यमुनि थाना में नरेंद्र लाल ने अपनी पुत्री के आत्महत्या को लेकर तहरीर दी थी। कहना था कि उसकी पुत्र को अर्जुन कुमार ने आत्महत्या के लिए उकसाया है। पुलिस ने आरोपी के विरूद्ध आईपीसी की धारा 306 में मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार करते हुए जेल भेज दिया था। विवेचना पूरी होने के बाद मामला जिला न्यायालय पहुंचा।

बताया कि मृतका की सगाई बीते वर्ष 13/14 मार्च को मनोज कुमार पुत्र गिरधारी लाल, वीणा मल्ला पोखरी से हो गई थी। इसके बाद से आरोपी अर्जुन कुमार निरंतर फोन से उसे (मृतका युवती), उसके मंगेतर और उसके पिता को धमकी देता था। यहां तक कि उसने मृतका के मंगेतर को दोनों के बीच प्रेम संबंध होने सहित अन्य कई बातें कहीं। आरोपी द्वारा लगातार परेशान किए जाने से तंग आकर युवती ने पेड़ पर चुन्नी के सहारे लटकर आत्महत्या कर दी थी। शासकीय अधिवक्ता की दलीलों और पूरे प्रकरण की स्थिति को गंभीरता से लेते हुए सत्र न्यायाधीश ने कहा कि यह अपराध माफी लायक नहीं है। उन्होंने आरोपी को दोषी पाते हुए छह वर्ष कठोर कारावास की सजा सुनाई। साथ ही आरोपी द्वारा अभी तक जेल में काटी गई सजा को सुनाई गई सजा में समायोजित करने की बात भी कही।

Auto Fatched From DVNA