September 23, 2021

My UP News

My UP NEWS

पिछले कुछ वर्षों में डिजिटल मीडिया की भूमिका बहुत बड़ी हो रही: विक्रम सहाय

देहरादून (DVNA)। केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्रालय द्वारा डिजिटल मीडिया आचार संहिता 2021 का उद्देश्य अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता को बनाए रखते हुए ओटीटी प्लेटफार्मों पर प्रसारित होने वाली सामग्री के गुणवत्ता स्तर को बनाए रखना है। डिजिटल मीडिया आचार संहिता 2021 पर एक विशेष वेबिनार को संबोधित करते हुए सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के संयुक्त सचिव विक्रम सहाय ने यह बात कही। 

इस वेबिनार में यूपीयूकेलाइव के एडिटर इन चीफ मुहम्मद फैज़ान ने भी हिस्सा लिया। 

वेबिनार में आचार संहिता के भाग 3 से संबंधित प्रावधान की जानकारी देते हुए श्री सहाय ने कहा कि आचार संहिता का उद्देश्य किसी को दंडित करना नहीं है। उन्होंने कहा कि पिछले कुछ वर्षों में डिजिटल मीडिया की भूमिका बहुत बड़ी हो रही है। पिछले 6 वर्षों में भारत में इंटरनेट डेटा उपयोग में 43 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। 

उन्होंने कहा कि ओटीटी प्लेटफॉर्म पर प्रसारित हो रहे कंटेंट को लेकर शिकायतें मिल रही थीं, जिसे देखते हुए डिजिटल मीडिया आचार संहिता तैयार की गई है. इसके तहत सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय न्यूज पोर्टल और ओटीटी प्लेटफॉर्म पर काम करने वाले लोगों के बारे में सामान्य जानकारी जुटाएगा।

विक्रम सहाय ने बताया कि इन प्लेटफार्म पर भी देश के मौजूदा कानून लागू होंगे और इसका उद्देश्य ऐसी सामग्री के प्रसारण पर रोक लगाना है जो मौजूदा कानूनों को उल्लंघन करने के साथ-साथ महिलाओं के प्रति आपत्तिजनक और बच्चों के लिए नुकसानदेह है। 

इसके साथ ही डिजिटल न्यूज़ प्रकाशकों को एक नियामक संस्था का सदस्य भी बनना होगा ताकि ख़बरों से संबंधित शिकायतों का निपटारा हो सके। 

वेबिनार में उत्तराखंड, बिहार, उत्तर प्रदेश से प्रमुख डिजिटल प्लेटफॉर्म्स के सम्पादकों के अलावा तीनों राज्यों के प्रोफसरों ने भी हिस्सा लेकर अपने विचार रखे।

Auto Fatched From DVNA