October 16, 2021

My UP News

My UP NEWS

भ्रष्टाचार के खुले खेल के चलते योजनाएं हो रही कागजों में संचालित

छतरपुर (डीवीएनए)। जिले में सरकार की जन हितेषी योजनाएं निरंतर भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ रही हैं। बिजावर जनपद की दर्जनों गाम पंचातयों में भ्रष्टाचार का खुला खेल खेला जा रहा है। शासन की तमाम योजनाएं कागजों में संचालित कर शासन की राशि का आपस में बंदरबांट किया जा रहा है। परिणामस्वरूप भोली भाली जनता को योजनाओं से पूरी तरह वंचित हैं। ऐसा ही एक मामला जनपद बिजावर की ग्राम पंचायत नंदगायबट्टम का सामने आया है,
जहां पर फरियादी हरिचरण सिंह यादव ने एसडीएम को शिकायती आवेदन देकर आरोप लगाया है कि उसने अपने खेत खसरा क्रमांक 294 में दिनांक 16 सितम्बर 2020 में मिट्टी बंधान कार्य करवाया था, जिसकी राशि 22 हजार 292 रुपए सहायक सचिव ललित दुबे द्वारा निकाल ली गई है। किंतु, मुझे आज तक एक रुपए का भी भुगतान नहीं किया है। यही नहीं, नंदगांयबट्टम के सुडहार में खेत तालाब निर्माण दो अगस्त, 2020 को स्वीकृत हुआ था, जिसकी राशि 14 लाख 84 हजार स्वीकृत हुई थी। उसका कार्य पूर्ण नहीं हुआ है, निर्माण कार्य अभी तक अधर में लटका है, लेकिन स्वीकृत राशि में से सात लाख 90 हजार की राशि निकाल ली गई है।
कार्य के लिए सुडाहार में स्वीकृत 884 कंदुरु में से केवल 225 कंदुरु खोदे गए थे, लेकिन 884 कंदुरु के लिए स्वीकृत पूरी तीन लाख 75 हजार रुपए की राशि निकाली गई है। इसके साथ ही फरियादी का आरोप है कि ग्राम पंचायत में कलिपधारा कूप जो हाल ही में स्वीकृत हुए थे, उसमें सचिव द्वारा बहुत बड़ा खेल खेला गया है, क्योंकि जो कूप स्वीकृत हुए हैं, वह 15 वर्ष पूर्व कपिलधारा योजना के तहत खोदे गए थे, उन्हीं कुओं को सहायक सचिव द्वारा अपने कारोबारियों पर मेहरबार होकर पुनरू स्वीकृत किया गया है, जिसकी राशि तो ताकाल ली गई, किन्तु निर्माण कार्य आज तक नहीं करवाया गया है। यह कूप पास करवाए ही इसीलिए गए थे कि शासन का पैसा हजाम किया जा सके। फरियादी का आरोप है कि ग्राम पंचायत में हम लोगों को न मजदूरी पर लगाया जाता है और ना ही बरसों से अधूरे पड़े निर्माण कायों को पूर्ण करवाया जाता है।

Auto Fatched From DVNA