September 16, 2021

My UP News

My UP NEWS

नहीं खुलेंगे सिनेमा हॉल और मल्टीप्लेक्स, जिम संचालकों ने की तैयारी

0-मूवी और गाइड लाइन के अभाव में नहीं खुलेंगे सिनेमा हॉल और मल्टीप्लेक्स
0-जिम और स्टेडियम वालों ने पूरी कर ली तैयारी

लखनऊ (डीवीएनए)। पांच जूलाई से सरकार ने भले ही सिनेमा हॉल और मल्टीप्लेक्स खोलने की अनुमित दे दी है लेकिन लखनऊ समेत उप्र के ज्यादातर जगहों पर अभी फिल्म देखने के लिए लोगों को इंतजार करना होगा। कई जगहों पर सिनेमा हॉल और मल्टीप्लेक्स को न खोलने का फैसला किया गया है। उप्र में मौजूदा समय 70 से ज्यादा मल्टीप्लेक्स है, वहीं 100 के करीब सिंगल स्क्रीन सिनेमा हॉल हैं।
हालांकि इसके इतर जिम और स्टेडियम के लोगों ने पूरी तैयारी कर दी है। रविवार को लखनऊ में 200 से ज्यादा जिम संचालक ने अपने यहां सफाई से लेकर सैनिटाइजेशन और अन्य काम कराया। इससे कि सुबह से ही वह जिम खोल सके। लखनऊ जिम एसोसिएशन के सचिव मसल्स जिम के मालिक इमरान खान ने बताया कि करीब 70 दिन बाद फिर से सेंटर खुल रहे हैं। सुबह से भी सभी सदस्यों को मैसेज कर दिया गया है। इसमें उनको बताया गया कि एक बार में कुल क्षमता के 50 फीसदी तक ही लोग आ सकते है। ऐसे में बेहतर होगा अपना समय बता दे , जिससे कि अलग – अलग स्लॉट दिया जा सके।
3000 से ज्यादा जिम उप्र में संचालित होते हैं
उत्तर प्रदेश में छोटे – बड़े मिलाकर करीब 3 हजार से ज्यादा जिम है। जहां प्रतिदिन लाखों लोगों का आना होता है। इससे बड़े स्तर पर रोजगार भी मिलता था लेकिन कोविड संक्रमण के दौरान इसको बंद कर दिया गया था। मोहम्मद इमरान ने बताया कि बाहर से जूते पहनकर आने पर रोक लगाया गया है। जूते आकर यही पहनना होगा, जिससे कि संक्रमण आदि खतरा न हो।
सिनेमा घर मालिक बोले, अभी कुछ दिन बंद रखेंगे
लखनऊ में 8 सिंगल स्क्रीन और 13 मल्टी स्क्रीन हॉल है। फिलहाल सभी लोगों ने बंद रखने का फैसला किया है। दलील है कि अभी कोई फिल्म नहीं है। इसके अलावा गाइड लाइन भी कुछ क्लियर नहीं है। उमराव सिनेमा के मालिक आशीष अग्रवाल ने बताया कि अभी फन, आईनाक्स, नॉवेल्टी समेत सभी बड़े लोगों ने लखनऊ में कुछ दिनों ने सिनेमा हॉल बंद रखने का फैसला किया है। उन्होंने बताया कि इसके पीछे की वजह गाइड लाइन और फिल्मों का न होना है। बताया कि अभी शनिवार औेर रविवार की बंदी चल रही है, जबकि सिनेमा हॉल में सबसे ज्यादा लोग इन्हीं दो दिन में आते है। इससे कारोबार को कोई फायदा नहीं मिलेगा, बल्कि रूटीन का खर्च बढ़ जाएगा।

Auto Fatched From DVNA