June 17, 2021

My UP News

My UP NEWS

RK श्रीवास्तव तैयार कर रहे अनोखे टैलेन्ट, क्लास 5 का शिवम करता है 10वीं का गणित हल

RK श्रीवास्तव तैयार कर रहे अनोखे टैलेन्ट, क्लास 5 का शिवम करता है 10वीं का गणित हल

नई दिल्ली। भारत की इस महान भूमि पर अभी तक न जाने कितने महापुरुष पैदा हुए हैं, जिन्होंने अपने प्रतिभा से देश का नाम रोशन किया है और जिन पर हमें बहुत गर्व है।

आर्यभट्ट की इस भूमि पर आज भी प्रतिभाओं की कमी नहीं है। आज हम आरके श्रीवास्तव के ऐसे ही प्रतिभावान नन्हे स्टूडेंट्स के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्हें Wonder boy भी कहा जा रहा है। ये बच्चे उम्र में काफी छोटे होते हैं, लेकिन जब आप इनके बारे में जानेंगे, तो आप भी बहुत हैरान और गौरवान्वित महसूस करेंगे।

बिहार राज्य के रोहतास जिले के बिक्रमगंज का वॉन्ड़र बॉय शिवम गुप्ता, रोहित, कुशाग्र के गणितीय ज्ञान सबको चकित कर देते है। क्लास 5 का शिवम 10वीं के गणित को करता हल, क्लास 7 का रोहित 12वीं के गणित तो क्लास 9th का कुशाग्र जेईई मेन और ऐडवांस के गणित के टेस्ट में टॉप करता है।

शिवम अभी वर्ग 5 में है परन्तु 10 वी के प्रश्नों को करता हल है। आरके श्रीवास्तव का यह नन्हा स्टूडेंट्स वर्ग 5 में ही 10वीं के TRIGONOMETRY के सारे theory को किसी प्रोफेसर की तरह समझाता है।

वहीं Science में किसी भी topic पर घंटो LECTURE देने की क्षमता इस नन्हें बालक में है। ये बच्चे पलक झपकते हर सवाल का जवाब देते हैं। आपको बता दें कि बिहार राज्य और अपना देश अब तक इन बच्चों के लिए पूरी तरह से अनजान थे।

आरके श्रीवास्तव रोहतास जिले के बिक्रमगंज में वॉन्ड़र किड्स प्रोग्राम चलाते है। जहाँ वर्ग 5 से 7 तक के स्टूडेंट्स 10 वी के प्रश्नो को हल करते है, तो वर्ग 9 से 10 वी के स्टूडेंट्स 11वी ,12वी और GRADUATION तक के गणित के पाठ्यक्रम को पढ़ते नजर आ रहे है।

आरके श्रीवास्तव अपने शैक्षणिक कार्यशैली के माध्यम से बहुत लोकप्रिय हो रहे हैं। आपको बताते चले की आरके श्रीवास्तव गूगल बॉय कौटिल्य पंडित के भी गुरु हैं।

WONDER KIDS PROGRAM क्या है?
आरके श्रीवास्तव के शैक्षणिक आँगन में वर्ग 3 से स्टूडेंट्स जुड़ना प्रारम्भ कर देते हैं। प्रत्येक दिन 4 से 5 घंटे तक स्टूडेंट्स को शिक्षा दिया जाता है। प्रत्येक रविवार को सुबह 7 बजे से शाम 7 तक लगातार 12 घंटे गणित का गुर आरके श्रीवास्तव सिखाते है। इसके अलावा आरके श्रीवास्तव के द्वारा चलाया जा रहा स्पेशल नाईट क्लासेज भी देश मे चर्चा का विषय बना हुआ।

अभी तक आरके श्रीवास्तव स्टूडेंट्स को सेल्फ स्टडी के प्रति जागरूक करने हेतु 450 क्लास से अधिक बार पूरे रात लगातार 12 घंटे गणित का गुर सिखा चुके है। वंडर किड्स प्रोग्राम के तहत स्टूडेंट्स सिर्फ 2 से 3 वर्षो मे 5 हजार से 7 हजार घंटे तक आरके श्रीवास्तव के शैक्षणिक आँगन मे गणित का गुर सीख चुके होते है।

जब ये स्टूडेंट्स वर्ग 7- 8 मे पहुँचते है तो ये स्टूडेंट्स 11वी, 12वी के सलेब्स को पूरे कॉन्सेप्ट के साथ पढ़ चुके होते है। वर्ग 10 वी में जब ये स्टूडेंट्स जाते है तो कई बार 11 वी, 12 वी के पाठ्क्रम सहित आईआईटी प्रवेश परीक्षा के पिछले 40 वर्षों के question bank को कई बार revision कर चुके होते है।