October 16, 2021

My UP News

My UP NEWS

स्मारक घोटाला: विजिलेंस ने दो आरोपियों को किया गिरफ्तार, मायावती सरकार में लखनऊ और नोएडा में बने थे स्मारक

सोनभद्र-डीवीएनए। उत्तर प्रदेश में 2007 से 2012 तक बसपा सरकार के दौरान लखनऊ और नोएडा में हुए स्मारकों के निर्माण में घोटाले का मसला फिर से गरमा उठा है। घोटाले की जांच कर रही बिजलेंस टीम द्वारा मिर्जापुर से दो को गिरफ्तार किए जाने की जानकारी सोमवार को सामने आने के बाद सोनभद्र और चंदौली में हड़कंप की स्थिति बन गई है। भाजपा के दो मौजूदा विधायक और सपा के एक पूर्व विधायक की कथित संलिप्तता को देखते हुए किसी भी वक्त इन दोनों जिलों में भी टीम के धमकने की संभावना जताई जाने लगी है।
बताया जा रहा है कि घोटाले की जांच कर रही विजिलेंस लखनऊ की टीम दो दिन पूर्व मिर्जापुर जिले में पहुंची। पुलिस अधीक्षक मिर्जापुर को जानकारी देने के बाद अहरौरा से रमेश यादव और किशोरी लाल को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में जेल भेजा दिया गया। बताया जा रहा है कि जल्द ही इस मामले में कुछ और भी गिरफ्तारी की जा सकती है।
उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनावों से ठीक पहले एक बार फिर मायावती सरकार के शासनकाल में हुए स्मारक घोटाले का जिन्न बाहर निकल आया है। मामले की जांच कर रही विजिलेंस लखनऊ ने दो दिन पूर्व मिर्जापुर के अहरौरा थाना क्षेत्र से दो लोगों को गिरफ्तार किया है। आरोपी पत्थर खदानों के पट्टेदार हैं। उत्तर प्रदेश में 2007 से 2012 तक बसपा सरकार के दौरान लखनऊ और नोएडा में स्मारकों का निर्माण किया गया था। स्मारकों में राजस्थान के अलावा मिर्जापुर के अहरौरा के गुलाबी पत्थरों का इस्तेमाल किया गया था। अखिलेश सरकार के दौरान 2013 में लोकायुक्त ने जांच रिपोर्ट में करोड़ों में घोटाला होने की बात कही थी। 2013-14 में जांच शुरू हुई। आरोप था कि मिर्जापुर के अहरौरा के गुलाबी पत्थरों का उपयोग लखनऊ में बने स्मारकों में किया गया पर उसकी सप्लाई राजस्थान से दिखाई गई। तभी से घोटाले की जांच चल रही है।
बताते चलें कि इस मामले में जांच टीम को भाजपा के वर्तमान घोरावल विधायक अनिल मौर्या (तत्कालीन समय में बसपा विधायक), भाजपा के चकिया विधायक शारदा प्रसाद (तत्कालीन समय में बसपा विधायक), पूर्व सपा विधायक घोरावल रमेश दुबे (तत्कालीन समय में बसपा नेता) की भूमिका संदिग्ध पाई गई थी। तभी से स्मारक घोटाला मामले में उनकी भूमिका जांच व सवालों के घेरे में है।

Auto Fatched From DVNA