July 29, 2021

My UP News

My UP NEWS

एक ऐसा रेलवे स्टेशन जो है दो राज्यों की सीमा में, अप लाइन झारखंड तो डाउन लाइन बिहार में, जाने रेलवे स्टेशन का नाम

रांची (डीवीएनए)। ब्रिटिश शासन काल के दौरान ही यह सुरंग बना था। सुरंग में से केवल दो लाइन गुजरती है। यहां अप लाइन झारखंड की सीमा में और डाउनलाइन बिहार की सीमा में है। लेकिन सुरंग को पार करते ही बिहार के गया जिला में यह नवादा जिलांतर्गत रजौली थाना की सीमा को छूता है। वहीं दूसरी तरफ झारखंड के कोडरमा जिलांतर्गत चंदवारा की थाना की सीमा को। स्टेशन के करीब 600 मीटर की दूरी पर ऊंची पहाड़ी को काटकर ब्रिटिश शासन काल के दौरान ही यह सुरंग स्टेशन के आसपास बिहार व झारखंड के करीब दो दर्जन छोटे-छोटे गांव अवस्थित हैं। यहां के लोगों के लिए आने-जाने का एकमात्र साधन रेलवे ही है। यहां ठहरने वाले पैसेंजर ट्रेनों के माध्यम से ही लोग कोडरमा स्टेशन आते-जाते हैं।
तो दिलवा स्टेशन पर मात्र दो पैसेंजर ट्रेन का ही ठहराव है। इनमें आसनसोल-वाराणसी पैसेंजर और धनबाद-गया ईएमयू पैसेंजर। गया-धनबाद इंटरसिटी एक्सप्रेस ट्रेन का ठहराव केवल अप लाइन में है। यानी इससे केवल धनबाद की ओर जा सकते हैं। यह सुविधा मुख्यतरू रेलकर्मियों के लिए दी गई है। स्थानीय भाजपा नेता और लंबे समय से इलाके में राजनीति कर रहे चंद्रभूषण साव बताते हैं कि यहां रेलवे लाइन के एक तरफ चंदवारा (झारखंड) का बेंदी पंचायत है। बेंदी पंचायत के घोड़टप्पी, बेंदी, सिंदरी, ओकरचुआं, चोरीचट्टान, बोंगादाग जैसे गांव स्टेशन के पंचायत के घोड़टप्पी, बेंदी, सिंदरी, ओकरचुआं, चोरीचट्टान, बोंगादाग जैसे गांव स्टेशन के आसपास हैं। दूसरी तरफ बिहार के रजौली प्रखंड का हल्दिया पंचायत का दिलवा, चोरडीहा, नावाडीह, झराही जमुंदाहा जैसे गांव प्रखंड का हल्दिया पंचायत का दिलवा, चोरडीहा, नावाडीह, झराही जमुंदाहा जैसे गांव हैं। लोगों की आजीविका का मुख्य साधन जंगल से माइका चुनना और लकड़ी चुनना है

Auto Fatched From DVNA