October 25, 2021

My UP News

My UP NEWS

21 जून से आंशिक कोरोना कर्फ्यू में छूट बढ़ाई जा रही: योगी

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ‘ट्रेस, टेस्ट एण्ड ट्रीट’ नीति के अनुरूप कोविड-19 से बचाव और उपचार की व्यवस्थाओं को प्रभावी ढंग से जारी रखने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि संक्रमण की चेन को तोड़ने तथा प्रदेशवासियों को सुरक्षा कवच प्रदान करने के लिए कोविड वैक्सीनेशन कार्य तेजी से संचालित किया जाए।

मुख्यमंत्री आज यहाँ अपने सरकारी आवास पर आहूत एक उच्च स्तरीय बैठक में प्रदेश में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि बेहतर होती स्थितियों के दृष्टिगत कल 21 जून, 2021 से आंशिक कोरोना कफ्र्यू में छूट बढ़ायी जा रही है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में संक्रमण नियंत्रित स्थिति में है। कोरोना वायरस कमजोर हुआ है, समाप्त नहीं हुआ है। दूसरे देशों एवं अन्य प्रदेशों में कोरोना संक्रमण की गंभीर स्थिति सबके सामने है। ऐसे में, थोड़ी भी लापरवाही भारी पड़ सकती है। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण से बचाव के सम्बन्ध में पूरी सतर्कता बरतना आवश्यक है। मुख्यमंत्री ने लोगों से घर से बाहर निकलने पर अनिवार्य रूप से मास्क का प्रयोग करने, दो-गज की दूरी का पालन करने तथा भीड़-भाड़ में जाने से बचने की अपील की।
मुख्यमंत्री ने कहा कि कल सोमवार से आंशिक कोरोना कफ्र्यू में दी जा रही अतिरिक्त छूट के संबंध में निर्गत गाइडलाइंस का सभी जनपदों में प्रभावी ढंग से पालन सुनिश्चित कराया जाए। बाजारों एवं सार्वजनिक स्थानों पर भीड़ एकत्र न होने देने पर बल देते हुए उन्होंने कहा कि पुलिस द्वारा इन स्थलों की प्रभावी पेट्रोलिंग की जाए। पब्लिक एड्रेस सिस्टम का व्यापक प्रयोग करते हुए कोरोना से बचाव के सम्बन्ध में लोगों को निरंतर जागरूक किया जाए। यह सुनिश्चित किया जाए कि सभी लोगों द्वारा मास्क का प्रयोग एवं दो-गज की दूरी के नियम का पालन हो।
बैठक में मुख्यमंत्री को अवगत कराया गया कि विगत 24 घण्टों में प्रदेश में कोरोना संक्रमण के 251 नये मामले प्रकाश में आए हैं। इसी अवधि में 561 संक्रमित व्यक्तियों का सफल उपचार करके डिस्चार्ज किया गया है। वर्तमान में संक्रमण के एक्टिव मामलों की संख्या 4,569 है।
मुख्यमंत्री को यह भी अवगत कराया गया कि पिछले 24 घण्टों में राज्य में 2,63,769 कोविड टेस्ट किये गये। प्रदेश में अब तक कुल 05 करोड़, 52 लाख, 64 हजार, 433 कोरोना टेस्ट किए जा चुके हैं। राज्य में कोरोना संक्रमण की पॉजिटिविटी दर में लगातार कमी तथा रिकवरी दर में वृद्धि हो रही है। वर्तमान में रिकवरी दर
98.4 प्रतिशत है।
मुख्यमंत्री को अवगत कराया गया कि राज्य स्तरीय स्वास्थ्य विशेषज्ञ परामर्श समिति द्वारा भविष्य में कोरोना संक्रमण की आशंका के संबंध में आकलन कर एक रिपोर्ट तैयार की गई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि समिति की संस्तुतियों को ध्यान में रखते हुए भविष्य में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए सभी आवश्यक तैयारियां की जाएं। कोविड संक्रमण की सम्भावित तीसरी लहर एवं संचारी रोगों पर नियंत्रण के सम्बन्ध में सभी जनपदों द्वारा पूरी सक्रियता से प्रभावी प्रयास किये जाएं।
मुख्यमंत्री को अवगत कराया गया कि कोविड-19 की उपचार व्यवस्था को सुदृढ़ करने के लिए निरन्तर कार्यवाही की जा रही है। कोविड बेड की संख्या में लगातार बढ़ोत्तरी हो रही है। विगत दिवस प्रदेश के विभिन्न मेडिकल कॉलेजों में 100 कोविड बेड की वृद्धि हुई है। इसमें दोनों, आइसोलेशन एवं आई0सी0यू0 बेड शामिल हैं। मानव संसाधन में भी पूरी पारदर्शिता के साथ वृद्धि की जा रही है। सभी मेडिकल कॉलेजों में 100 बेड के पीडियाट्रिक आई0सी0यू0 (पीकू) तथा नियोनेटल आई0सी0यू0 (नीकू) के निर्माण का कार्य तेजी से चल रहा है। जिला अस्पतालों तथा कुछ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में भी पीकू/नीकू का निर्माण कराया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने पीकू तथा नीकू की स्थापना की कार्यवाही इसी माह पूर्ण कर लिए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने चिकित्सा शिक्षा मंत्री से कार्य की प्रगति की समीक्षा कर दो दिवस में रिपोर्ट उपलब्ध कराने की अपेक्षा की।
मुख्यमंत्री ने प्रदेश में कोरोना वैक्सीनेशन कार्य की गति बढ़ाने के निर्देश देते हुए कहा कि 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के लिए भारत सरकार द्वारा पहले से ही निःशुल्क कोरोना वैक्सीन उपलब्ध कराई जा रही है। भारत सरकार द्वारा कल 21 जून, 2021 से 18 से 44 वर्ष आयु वर्ग के लिए भी निःशुल्क कोविड वैक्सीनेशन की व्यवस्था की गयी है। इस निर्णय के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के प्रति आभार व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि कोरोना वैक्सीनेशन का कार्य और तेजी से संपन्न किया जा सकेगा। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि पूरी क्षमता से कार्य करते हुए 06 लाख कोरोना वैक्सीन प्रतिदिन एडमिनिस्टर किए जाने का प्रयास किया जाए। 01 जुलाई, 2021 से 10 से 12 लाख कोरोना वैक्सीन प्रतिदिन एडमिनिस्टर करने के लक्ष्य के साथ तैयारी की जाए। वैक्सीनेशन कार्य को तेजी से संचालित करने के लिए वैक्सीनेशन सेंटर तथा वैक्सीनेटर्स की संख्या बढ़ाई जाए। नर्सिंग पाठ्यक्रम के अन्तिम वर्ष के विद्यार्थियों को वैक्सीनेटर के रूप में तैयार किया जाए।
मुख्यमंत्री को अवगत कराया गया कि एम0एस0पी0 के अन्तर्गत अब तक रिकॉर्ड 55.93 लाख मीट्रिक टन से अधिक गेहूं की खरीद की जा चुकी है। किसानों को अब तक 9,846 करोड़ रुपये से अधिक के गेहूं मूल्य का भुगतान भी कर दिया गया है। अंत्योदय तथा पात्र गृहस्थी कार्डधारकों को निःशुल्क खाद्यान्न वितरण आज से प्रारंभ किया गया है। यह निःशुल्क खाद्यान्न वितरण राज्य सरकार के अपने संसाधनों द्वारा किया जा रहा है।

Auto Fatched From DVNA